नीति श्लोक in Hindi

अक्रोधना धर्मपरा:, सत्यनित्या दमे रताः| तादृशा: साधवो विप्रास्तेभ्यो दत्तं महाफलम् || In Hindi : जो क्रोध पर विजय पाने वाले, धर्मपरायण, सदा सत्य का ही आश्रय लेने वाले और मन…

0 Comments

नीति श्लोक in Hindi

अकृत्वा परसन्तापमगत्वा खलनम्रताम्| अनुत्सृज्य सतां मार्गं यत्स्वल्पमपि तद् बहु|| In Hindi दूसरों को कष्ट न पहुंचा कर और दुष्टों के सम्मुख बिना गिडगिडाए यदि सज्जनों के मार्ग पर हम चल…

0 Comments

Hindi Quotes of the Day

इस बात को व्यक्त मत होने दीजिये कि आपने क्या करने के लिए सोचा है, बुद्धिमानी से इसे रहस्य बनाये रखिये और इस काम को करने के लिए दृढ रहिये.…

0 Comments

Hindi Quotes of the Day

“प्रेरणा अंतर्मन से उत्पन्न होने वाली आग है। यदि आपके भीतर इस आग को जलाने का प्रयास किसी अन्य व्यक्ति द्वारा किया जाता है तो इस बात की संभावना है…

0 Comments

नीति श्लोक Niti Slok

नीति श्लोक:- अकर्त्तव्येष्वसाध्वीव तृष्णा प्रेरयते जनम्| तमेव सर्वपापेभ्यो लज्जा मातेव रक्षति || तृष्णा मनुष्य को बुरी स्त्री के समान न करने योग्य कार्यों में लगा देती है, परन्तु इसके विपरीत…

0 Comments
  • 1
  • 2
Close Menu