नीति श्लोक Niti Slok

नीति श्लोक:- अकर्त्तव्येष्वसाध्वीव तृष्णा प्रेरयते जनम्| तमेव सर्वपापेभ्यो लज्जा मातेव रक्षति || तृष्णा मनुष्य को बुरी स्त्री के समान न करने योग्य कार्यों में लगा देती है, परन्तु इसके विपरीत…

0 Comments

मेरा भारत महान ( INDIA IS GREAT )

ॐ भारत की संस्कृति को इस हिंदी गाने में बहुते खूब समझाया गया है हमको अपने भारत देश पर गर्वे होना चाहिए और अपने देश से बढ़कर कुछ नहीं समझना…

2 Comments

प्यार की ये कहानी सुनो…जब बीवी ने पाई-पाई जोड़कर पूरी की पति की ख्वाहिश

प्यार की ये कहानी सुनो...जब बीवी ने पाई-पाई जोड़कर पूरी की पति की ख्वाहिश कौन कहता है कि आज के समय में सच्चा प्यार नहीं होता. आज के समय में…

0 Comments

ज्योतिष की राय: मंगलवार से शनिवार तक करें कुछ खास, पाएं मनचाहा लाभ

ज्योतिष की राय: मंगलवार से शनिवार तक करें कुछ खास, पाएं मनचाहा लाभ आज गुप्त नवरात्र और पंचक का महासंयोग आरंभ हुआ है। मंगलवार और घनिष्ठा नक्षत्र के कारण तथा…

0 Comments

Switzerland-Mini Switzerland ‘खज्जियार’

Switzerland-Mini  Switzerland 'खज्जियार'   किसी ने सच ही कहा है कि अगर धरती पर कहीं जन्नत है तो वह है स्विट्जरलैंड में। 'खज्जियार' दुनिया के 160 मिनी स्विट्जरलैंड में से…

0 Comments
Close Menu